बुधवार, 18 मई 2011

सोच रखा है ....

अगर प्रभु ने देना सोच रखा है तो
कोई कितना छीन सकता है .....!!


- रश्मि प्रभा

8 टिप्‍पणियां:

  1. वाह... बहुत खूब एक समझने समझाने की बात इतने सुन्दर लफ़्ज़ों में

    उत्तर देंहटाएं
  2. सही है ..जो आपका है वो कोई छीन नहीं सकता और जो नहीं है उसे आप पा नहीं सकते ..

    उत्तर देंहटाएं
  3. apane apane hisse ke sukh aur dukh bhi isi ke antargat aate hain. sach hi kaha hai.

    उत्तर देंहटाएं
  4. pranam !
    jis ke bhagya me jo likha hai use koi nahi chhen nahi saktaa . awashya prapt hoga . sahi kaha aap ne .
    saadar

    उत्तर देंहटाएं
  5. सकारात्मक चिंतन|धन्यवाद|

    उत्तर देंहटाएं

यह प्रेरक विचार आपके प्रोत्‍साहन से एक नये विचार को जन्‍म देगा ..
आपके आगमन का आभार ...सदा द्वारा ...