मंगलवार, 4 अक्तूबर 2011

खामोशी भी बोलती है ...

कहते हैं , खामोशी भी बोलती है ...
बोलती तो है , पर सामनेवाला अपनी सोच के अनुसार सुनता है !
- रश्मि प्रभा

6 टिप्‍पणियां:

  1. खामोशी का बोलना ...और आपका कहना दोनो सच हैं ... विचारों की कड़ी में यह श्रेष्‍ठ विचार ..प्रस्‍तुति के लिये आभार ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. ji...
    sahi hai...
    kai baar to hamare shabdon ko bhi sunne wala wahi sunta hai jo wo chahta hai...

    उत्तर देंहटाएं
  3. पर सामनेवाला अपनी सोच के अनुसार सुनता है !....

    कुछ भी हो आपको सुनने वाले सैकड़ों हैं

    उत्तर देंहटाएं
  4. खूबसूरत |
    सादर नमन ||

    http://neemnimbouri.blogspot.com/2011/10/blog-post.html

    उत्तर देंहटाएं

यह प्रेरक विचार आपके प्रोत्‍साहन से एक नये विचार को जन्‍म देगा ..
आपके आगमन का आभार ...सदा द्वारा ...