सोमवार, 18 अप्रैल 2011

देवदार की तरह ....

अगर तुम चाहते हो नई पीढ़ी देवदार बने
तो खुद को देवदार की तरह रखो ...!!

- रश्मि प्रभा

6 टिप्‍पणियां:

  1. मैं दीदी का बच्चा हूँ हर शब्द आशीर्वाद की ही तरह ग्रहण करता हूँ.....उनका हर शब्द मेरे लिए गीता का श्लोक है !

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपने ये बात बिलकुल सही कहा है दीदी, हजारों शब्दों से ज्यादा बलवान होता है एक उदाहरण ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. सही सोच दिशा निर्माण के लिए

    उत्तर देंहटाएं
  4. bahut gaheri bat....bhaavi agar apne hath me hai us ke liye hame kitna majbut hona padega...

    उत्तर देंहटाएं

यह प्रेरक विचार आपके प्रोत्‍साहन से एक नये विचार को जन्‍म देगा ..
आपके आगमन का आभार ...सदा द्वारा ...