शुक्रवार, 23 दिसंबर 2011

जीवन का सच ...!!!

एक रोटी - पूरे जीवन का सच 
चटनी लगाओ न लगाओ 
छत पाओ न पाओ 
रिश्तों को जियो न जियो 
यह रोटी पहला और अक्षरशः सच है !!!
- रश्मि प्रभा 

5 टिप्‍पणियां:

  1. यह रोटी पहला और अक्षरशः सच है !!! pakki baat....

    उत्तर देंहटाएं
  2. बिलकुल सच है पूरे जीवन का सच अक्षरशः ....

    उत्तर देंहटाएं
  3. मेरे नए पोस्ट उपेंद्र नाथ अश्क पर आपके प्रतिक्रियाओं की आतुरता से प्रतीक्षा रहेगी । धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं

यह प्रेरक विचार आपके प्रोत्‍साहन से एक नये विचार को जन्‍म देगा ..
आपके आगमन का आभार ...सदा द्वारा ...