गुरुवार, 1 दिसंबर 2011

सुर में ज़िन्दगी रहे ...

मैंने ये किया 
तुमने वो किया ...... यह राग हमेशा बेसुरा होता है 
सुर में ज़िन्दगी रहे 
इसके लिए - अपने किये की राह बदल लो 

- रश्मि प्रभा 


4 टिप्‍पणियां:

यह प्रेरक विचार आपके प्रोत्‍साहन से एक नये विचार को जन्‍म देगा ..
आपके आगमन का आभार ...सदा द्वारा ...