गुरुवार, 18 अगस्त 2011

बुरा नहीं सोचते ....

यदि तुम किसी का बुरा नहीं सोचते

तो यकीनन तुम्हें ईसा की तरह सूली ही मिलेगी ....!!!
- रश्मि प्रभा

3 टिप्‍पणियां:

  1. ओह!! यह भी एक वास्तविकता है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. अदाजी की ग़ज़ल की एक लाइन याद आ रही है ...
    कल उसने सही बात कही थी ,आज चढ़ेगी सूली पर !
    सबको खुश रखना सूली पर चढ़ने जैसा ही है !

    उत्तर देंहटाएं

यह प्रेरक विचार आपके प्रोत्‍साहन से एक नये विचार को जन्‍म देगा ..
आपके आगमन का आभार ...सदा द्वारा ...