मंगलवार, 2 अगस्त 2011

बड़े से बड़ा यज्ञ ....

यदि किसी को तुम्हारी ज़रूरत हो
तो बड़े से बड़ा यज्ञ भी अधूरा छोड़ना
उसकी पूर्णता है.............!!!

रश्मि प्रभा

9 टिप्‍पणियां:

यह प्रेरक विचार आपके प्रोत्‍साहन से एक नये विचार को जन्‍म देगा ..
आपके आगमन का आभार ...सदा द्वारा ...