सोमवार, 11 जुलाई 2011

अँधेरे में ...

व्यथा सुन लोगों का इठलाना उनकी फितरत है
जो अँधेरे में पड़ जाते है वे 'बचाओ, बचाओ' कहते ही हैं ...

- रश्मि प्रभा

3 टिप्‍पणियां:

  1. so true !!
    Some people really get a strange fun by watching others pain.
    So pathetic.

    उत्तर देंहटाएं
  2. सुंदर विचार.

    मेरी नई पोस्ट पर आपका स्वागत है! मेरा ब्लॉग का लिंक्स दे रहा हूं!

    हेल्लो दोस्तों आगामी..

    उत्तर देंहटाएं

यह प्रेरक विचार आपके प्रोत्‍साहन से एक नये विचार को जन्‍म देगा ..
आपके आगमन का आभार ...सदा द्वारा ...