शुक्रवार, 19 अक्तूबर 2012

चिंतन ...

काया-नश्वर
आत्मा-अमर

पर काया के भौतिक मोह में आत्मा हो जाती है नश्वर


- रश्मि प्रभा 

2 टिप्‍पणियां:

  1. आत्मा मरती तो नहीं पर मार दी जाती है ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. अय, अमरते तू !
    क्यों कर लुभाती है ?
    इन चिर श्रमित ,
    नीरस प्राणों को
    झकझोर हिलाती है!

    यथार्थ दर्शन !

    उत्तर देंहटाएं

यह प्रेरक विचार आपके प्रोत्‍साहन से एक नये विचार को जन्‍म देगा ..
आपके आगमन का आभार ...सदा द्वारा ...