बुधवार, 9 नवंबर 2011

कुरुक्षेत्र का मैदान ....!!!

सहनशीलता , विनम्रता , उदारता ही 
कुरुक्षेत्र का मैदान तैयार करती है ...!!!

 - रश्मि प्रभा
 

5 टिप्‍पणियां:

  1. और यह सब न हो तो बिना मैदान के ही कुरुक्षेत्र हो जाता है .

    उत्तर देंहटाएं
  2. हर मन एक कुरुक्षेत्र ही तो है , जहाँ हम ही लड़ने वाले , हारने वाले और जीतने वाले भी !

    उत्तर देंहटाएं

यह प्रेरक विचार आपके प्रोत्‍साहन से एक नये विचार को जन्‍म देगा ..
आपके आगमन का आभार ...सदा द्वारा ...