मंगलवार, 5 मार्च 2013

चिंतन ...

जब आप किसी को अपमानित करने का एक मौका भी नहीं खोते 
तो आपकी दिमागी हालत दयनीय है ..... और लाइलाज भी

- रश्मि प्रभा

5 टिप्‍पणियां:

  1. सत्य वचन!!

    मानकषाय (ईगो) का मानसिक रोग!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. स्थाई सच , सार्थक अभिव्यक्ति !!

    उत्तर देंहटाएं
  3. जो दूसरों को अपमानित करने का कोई अवसर नहीं चूकते उन्हें स्वयं कभी सम्मान मिला होगा यह बात भी संदेहास्पद ही है !

    उत्तर देंहटाएं

यह प्रेरक विचार आपके प्रोत्‍साहन से एक नये विचार को जन्‍म देगा ..
आपके आगमन का आभार ...सदा द्वारा ...