मंगलवार, 27 अगस्त 2013

चिंतन ...

सच है,लक्ष्मी के संग रहकर न कोई धनवान होता है 
न विष्णु 
लक्ष्मी तो एक पैसे में भी होती है 
पर उसकी कीमत जान पाना आसान नहीं 
क्योंकि मन तो अति के मोह से भरा 
कड़वे बोल की अमीरी के नशे में धुत्त होता है !
- रश्मि प्रभा 

4 टिप्‍पणियां:

  1. बिलकुल सही है...
    बहुत ही बढ़ियाँ और विचारणीय..
    :-)

    उत्तर देंहटाएं
  2. पर उसकी कीमत जान पाना आसान नहीं
    क्योंकि मन तो अति के मोह से भरा

    उत्तर देंहटाएं

यह प्रेरक विचार आपके प्रोत्‍साहन से एक नये विचार को जन्‍म देगा ..
आपके आगमन का आभार ...सदा द्वारा ...